Tuesday, June 18, 2024
#
Homeउत्तरप्रदेशजमीन के बदले रेलवे में नौकरी देने के केस की अब वेस्ट...

जमीन के बदले रेलवे में नौकरी देने के केस की अब वेस्ट यूपी तक पहुंची है। दरअसल, सीबीआई की जांच इस मामले में वैसे को अंबाला डिवीजन तक पहुंची है।

जमीन के बदले रेलवे में नौकरी देने के केस की अब वेस्ट यूपी तक पहुंची है। दरअसल, सीबीआई की जांच इस मामले में वैसे को अंबाला डिवीजन तक पहुंची है। सीबीआई ने अंबाला ने डिवीजन में कार्यरत 11 रेलकर्मियों को 31 जुलाई को पूछताछ के लिए नोटिस देकर दिल्ली तलब किया है। इनमें दो रेलकर्मी सहारनपुर में तैनात हैं।

 

सहारनपुर: पूर्व रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव के कार्यकाल में जमीन के बदले रेलवे में नौकरी देने के केस की अब वेस्ट यूपी तक पहुंची है। दरअसल, सीबीआई की जांच इस मामले में वैसे को अंबाला डिवीजन तक पहुंची है। सीबीआई ने अंबाला ने डिवीजन में कार्यरत 11 रेलकर्मियों को 31 जुलाई को पूछताछ के लिए नोटिस देकर दिल्ली तलब किया है। इनमें दो रेलकर्मी सहारनपुर में तैनात हैं।

 

दरअसल, अंबाला रेल डिवीजन के सीनियर डिवीजनल पर्सनल ऑफिसर रविंद्र सिंह ने सीबीआई के नोटिस की जानाकरी दी। उन्होंने चंडीगढ़, पटियाला, अंबाला, जगाधरी आदि रेलवे स्टेशनों पर तैनात 11 रेल अधिकारियों और कर्मचारियों को 31 जुलाई को दिल्ली सीबीआई मुख्यालय पहुंचने को कहा है कि इन 22 रेल अफसरों और कर्मियों में जितेंद्र कुमार और उपेंद्र चौधरी सहारनपुर में टेक्निकल विभाग में वायरमैन के तौर पर तैनात है।

बाकी अजय कुमार और अजीत कुमार चंडीगढ़ में टेक्निकल विभाग, अनिल कुमार यादव पाइंट मैन रायपुर, अनिल यादव ट्रैकमैन, ज्ञान देवी राय अंबाला, मनोज कुमार पटियाला, राजबालम प्रसाद ट्रैकमैन, राम दयाल सुमन पाइंट मैन, सतेंद्र कुमार यादव कॉबिंग मैन है। बताया गया है कि सहारनपुर में तैनात दोनों रेलकर्मियों को लालू प्रसाद यादव के रेलमंत्री रहते नियुक्ति दी गई थी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments